अन्तर्राष्ट्रीय

यूक्रेन में द‍िखा भारत का दम

 स्वतंत्रदेश,लखनऊ:हाथों में तिरंगा और जुबां पर भारत माता के जयकारे। जी हां, हमारे पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान के छात्रों ने कुछ ऐसा ही रास्ता अपनाया। जान पर बन आई तो मदद के लिए उनके अपने आगे नहीं आए। ऐसे में उन्हें भारत की याद आई। इसके बाद बिना किसी हिचक के तिरंगा थाम भारतीय दल में शामिल हो गए। उत्साह से पाकिस्तानी छात्र भारत माता के जयकारे लगाते हुए बार्डर को पार कर रोमानिया कैंप में पहुंच गए। इसका पता तब चला जब उनके वीजा की जांच हुई। हालांकि, इसके बाद उन्हें वहीं पर रोक दिया गया। भारतीय दूतावास ने भारतीय छात्रों को हवाई जहाज से रवाना कर दिया। यूक्रेन से लौटी एमबीबीएस छात्रा सगी बहनों ने यह सच्चाई बयां की।

 यूक्रेन में पाकिस्तानी छात्रों ने तिरंगा हाथ में ल‍िया और भारत माता के जयकारे लगाते हुए ब‍िना क‍िसी मुसीबत के बार्डर को पार करके रोमानिया पहुंचे थे।

इंदिरा नगर के रहने वाले व्यापारी राजनारायण वर्मा की बेटी रचना और स्वाति यूक्रेन से गुरुवार की देर रात लौटीं। दोनों बहनों ने भारत सरकार के प्रति आभार जताया। रोमानिया बार्डर पर हालात को बयां करते हुए बताया कि उनके साथ पाकिस्तान के छात्र भी तिरंगा लेकर भीड़ में बार्डर को पार करके रोमानिया कैंप में पहुंचे थे। भारतीय दूतावास ने वीजा की जांच की तो पता चला कि वे पाकिस्तानी हैं। फिर उन्हें अलग करके रोक दिया गया। भारत सरकार की सक्रियता के बाद दूसरे देशों की एंबेसी ने भी तेजी दिखानी शुरू की। बेटियों के सकुशल लौटने पर मां सुनीता बेहद खुश हैं। भारत सरकार और प्रधानमंत्री को धन्यवाद दिया है।पाकिस्तानी छात्र भारत माता के जयकारे लगाते हुए बार्डर को पार कर रोमानिया कैंप में पहुंच गए। इसका पता तब चला जब उनके वीजा की जांच हुई। हालांकि, इसके बाद उन्हें वहीं पर रोक दिया गया। भारतीय दूतावास ने भारतीय छात्रों को हवाई जहाज से रवाना कर दिया। यूक्रेन से लौटी एमबीबीएस छात्रा सगी बहनों ने यह सच्चाई बयां की।

Related Articles