उत्तर प्रदेशराज्य

17 मार्च से बंद ताजमहल और आगरा का किला आज से खुले, ताज में एक दिन में 5 हजार टूरिस्ट को ही एंट्री मिलेगी

आगरा में दो ऐतिहासिक स्थल सोमवार से फिर खुल रहे हैं। पर्यटक 17 मार्च से बंद ताजमहल और आगरा का किला देख सकेंगे। भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) के अधिकारियों ने इन दोनों स्थलों को फिर से खोलने के लिए सभी जरूरी इंतजाम कर लिए हैं। इस दौरान कोविड-19 गाइडलाइन का पालन करना होगा। 17वीं सदी के बाद पहली बार ऐसा हुआ जब ताजमहल से इतने दिन (188) बंद रहा।

इतिहासकार राजकिशोर राजे के मुताबिक- ताजमहल का निर्माण 1632 से 1648 के बीच हुआ। अब तक तीन बार इसके दरवाजे बंद हुए हैं। पहली बार साल 1971 में भारत-पाकिस्तान के बीच जंग के दौरान ताजमहल 15 दिन बंद रहा था। 1978 में बाढ़ के दौरान सात दिन के लिए बंद रहा। इसके बाद कोरोनावायरस के चलते 17 मार्च को ताज के दीदार पर 15 दिन की पाबंदी लगी थी। बाद में इसे अगले आदेश तक के लिए बंद कर दिया गया।

एएसआई ने आगरा मंडल में 266 और आगरा शहर में ताजमहल के अलावा लालकिला, मेहताब बाग, सिकन्दरा स्थित अकबर का मकबरा, मरियम का मकबरा, एत्माद्दौला जैसे आठ स्मारक बन्द कर दिए थे। इनमें से ताजमहल और आगरा का किला छोड़कर अन्य सभी स्मारकों को एक सितंबर से खोल दिया गया था।

ताजमहल में एक दिन में अधिकतम पांच हजार और आगरा किला में 2500 पर्यटकों को एंट्री मिल सकेगी। दोनों स्मारकों में टिकट विंडो बंद रहेंगे। ऑनलाइन टिकट बुक कराना होगा। क्यूआर कोड को स्कैन करके भी टिकट लिया जा सकता है। स्मारकों में स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर (एसओपी) का पालन तय कराया जाएगा। सीआईएसएफ टूरिस्ट की जांच करेगी। तामजहल में शाहजहां और मुमताज की कब्रों को पर्यटक देख पाएंगे। लेकिन, मकबरे में एक बार में सिर्फ पांच पर्यटक ही जा पाएंगे

इस गाइड लाइन का करना होगा पालन

  • पर्यटकों को मास्क लगाना, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा।
  • टिकट विंडो बंद रहेंगे। ऑनलाइन टिकट से एंट्री मिलेगी।
  • पार्किंग समेत सभी पेमेंट डिजिटल मोड में करने होंगे।
  • दीवारों व रेलिंग से दूर रहना होगा।
  • एंट्री से पहले थर्मल स्क्रीनिंग होगी। बिना लक्षण वाले ही प्रवेश पाएंगे।
  • स्मारक में ग्रुप फोटोग्राफी की मंजूरी नहीं होगी।
  • विदेशियों को एंट्री टिकट के लिए 1100 रुपए और देश के पर्यटकों को 50 रुपए देने होंगे।

Related Articles