ब्रेकिंग न्यूज़राज्य

WHO की बैठक मे स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए लिया हिस्सा

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने विश्व स्वास्थ्य संगठन की बैठक में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से भाग लिया। बुधवार को दक्षिण पूर्व एशिया के लिए संगठन के क्षेत्रीय समिति द्वारा 73वें सत्र का आयोजन किया गया था। 

कोरोना के गंभीर मामलों में स्टेरॉयड मददगार

कोरोना वायरस (COVID 19) के गंभीर मामलों में कई तरह के स्टेरॉयड मददगार साबित हो सकते हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के नेतृत्व में किए गए नए अध्ययनों में इसकी पुष्टि हुई कि स्टेरॉयड दवाओं की मदद से गंभीर रूप से संक्रमित लोगों की जान बचाई जा सकती है।

इन अध्ययनों के विश्लेषषण के अनुसार, गंभीर रूप से बीमार लोगों में प्लेसबो दवाओं की तुलना में स्टेरॉयड दवाओं की मदद से मौत के खतरे को एक तिहाई तक कम किया जा सकता है।

स्टेरॉयड को लेकर खुले नए विकल्प

इंपीरियल कॉलेज लंदन के शोधकर्ता डॉ. एंटोनी गार्डन ने कहा कि कोरोना के इलाज की दिशा में यह अहम कदम है, लेकिन इसे लेकर सचेत भी रहने की जरूरत है। स्टेरॉयड दवाएं आमतौर पर सस्ती होती हैं और इनकी व्यापक उपलब्धता भी है। ये दवाएं दशकों से इस्तेमाल की जा रही हैं। 

करीब 1,700 रोगियों पर किए गए अध्ययनों के आधार पर निकाला गया है। इनमें से जिन कोरोना रोगियों को स्टेरॉयड दवाएं दी गई, उनमें मौत का खतरा कम पाया गया।

दुनियाभर में दो करोड़ 75 लाख से ज्यादा मामले

दुनियाभर में अब तक कोरोना संक्रमण के दो करोड़ 75 लाख से ज्यादा मामले दर्ज किए जा चुके हैं जबकि आठ लाख से ज्यादा लोगों की मृत्यु हो गई है। कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित होने वाला देश अमेरिका है। यहां अभी तक 63 लाख से ज्यादा लोगों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हो चुकी है जबकि 1.89 लाख से ज्यादा लोगों की मृत्यु हो चुकी है।

Related Articles