उत्तर प्रदेशजीवनशैली

कोरोना काल मे सिर्फ इमरजेंसी में ही जाएं अस्‍पताल

15 जुलाई के बाद से ही राजधानी समेत आसपास के जनपदों में तेजी से कोरोना संक्रमण की दर बढ़ने लगी है। सितंबर में कोरोना के मामले और भी अधिक संख्या में आने की आशंका है। ऐसे में मरीजों को सामान्य बीमारियों के लिए अस्पतालों की ओपीडी में जाने से परहेज करना चाहिए। सिर्फ बहुत इमरजेंसी होने पर ही अस्पताल जाएं और उस दौरान भी मास्क एवं शारीरिक दूरी का पालन जरूर करें। अन्यथा कोरोना आपको आसानी से अपना शिकार बना सकता है। यह कहना है सिविल अस्पताल के परामर्शदाता डॉ अजय शंकर त्रिपाठी का। इस दौरान उन्होंने बताया कि बारिश का मौसम होने की वजह से मच्छर व जल जनित बीमारियों के होने का खतरा भी बढ़ा है। ऐसे में घरों व आसपास किसी भी कीमत पर पानी को इकट्ठा ना होने दें। कूलर का पानी भी हफ्ते में एक दो बार बदलते रहें। ताकि उसमें मच्छर न पनपने पाएं। अन्यथा डेंगू मलेरिया चिकनगुनिया इत्यादि बीमारियां भी घेर सकती हैं।

जवाब: इसके लिए आप अपने मोबाइल में ई-संजीवनी एप डाउनलोड करें या टेलीमेडिसिन से किसी चर्म रोग विशेषज्ञ से परामर्श लें। जब तक कोरोना का संक्रमण काल चल रहा है, बहुत इमरजेंसी होने पर ही ओपीडी जाएं। अन्यथा कोरोना संक्रमण के शिकार हो सकते हैं। जब भी अस्पताल जाएं तो शारीरिक दूरी व मास्क का पालन जरूर करें।

Related Articles