उत्तर प्रदेशराज्य

पांच लाख की ठगी कर कंपनी फरार-बीमा के नाम पर ठगे थे पैसे

सीतापुर के हरगांव थाना क्षेत्र में एक प्राइवेट कंपनी ने 50 लोगों से रुपये जमा कराए और पांच लाख लेकर चंपत हो गई। लोग कंपनी के कार्यालय पहुंचे तो वहां ताला लटका मिला। पीड़ितों ने थाने में तहरीर दी है। हरगांव गंज मुहल्ले में यूनियन बैंक के पीछे आजाद के मकान में एक प्राइवेट फाइनेंस कंपनी संचालित हो रही थी। मकान मालिक आजाद ने कहा कि कंपनी के दिलीप ठाकुर, अंशू कुमार, रोहित सिंह ने बताया कि उनकी कंपनी का प्रधान कार्यालय दिल्ली में है। इन लोगों ने दस दिन पूर्व एक कमरा किराये से लिया था। पंद्रह दिन बाद किराया देने का वायदा किया था।

प्राइवेट कंपनी ने 50 लोगों से बीमा के नाम पर ठगी की।

सोमवार से कार्यालय बंद है। कई लोग यहां कंपनी के विषय में पूछताछ करने आ चुके हैं। कर्मचारियों ने जो मोबाइल नंबर दिए थे, वह अब बंद जा रहे हैं। आजाद ने भी थाने में तहरीर दी है। वहीं राजेपुर निवासी दिलशाद, लोकपाल, अरविंद, गौरव, रोहित, मोहित ने थाने में सामूहिक प्रार्थना दिया। इसमें आरोप लगाया कि कंपनी के प्रतिनिधियों ने 13-13 लोगों के समूह बनाने के लिए कहा था। प्रति सदस्य 1010 रुपये बीमा व फाइल बनाने के नाम पर जमा कराए गए। सदस्यों से फोटो, आधार, बैंक खाते की छाया प्रति भी जमा कराई गई। शीघ्र ही सभी खाते में 30-30 हजार रुपये भेजने का आश्वासन दिया था। मंगलवार को वह कार्यालय आए तो ताला बंद मिला।

मोबाइल नंबर मिलाया तो बंद जा रहा है। इस तरह मंगलवार को बड़ागांव भुर्जिहा, तरपतपुर, राजेपुर, जलालीपुर आदि गांवों के 50 लोगों ने थाने में शिकायतें दर्ज कराई हैं। थाने के क्राइम ब्रांच प्रभारी कृष्ण मोहन सिंह ने बताया कि तहरीर मिली है। बीट इंचार्ज को जांच सौंपी है। जांच रिपोर्ट मिलने के बाद केस दर्ज कर आवश्यक कार्रवाई की जाएगी।

Tags

Related Articles