उत्तर प्रदेशब्रेकिंग न्यूज़

धरना दे रहे लोगों का पुलिस टीम पर हमला, एएसपी सहित आठ घायल

राजा बलि की धरती बलिया में पुलिस के कहर के खिलाफ धरना दे रहे लोगों पर जब पुलिस ने बल आजमाया तो इनका गुस्सा चरम पर आ गया। धरना दे रहे लोगों ने पुलिस टीम पर हमला बोल दिया। पथराव में एएसपी सहित आठ लोग घायल हैं। इन सभी को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है जबकि धरना देने वालों की धरपकड़ के लिए पीएसी को भी लगाया गया है।

बलिया में पुलिस की पिटाई के खिलाफ धरना दे रहे लोगों को हटाने के लिए पुलिस ने जब बल प्रयोग किया तो इनका गुस्सा चरम पर चढ़ गया। भड़के लोगों ने पुलिस टीम पर हमला बोल दिया। पथराव में एएसपी समेत आठ पुलिसकर्मी घायल हो गए हैं। इन सभी को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

रसड़ा कोतवाली के कोटवरी मोड़ पर गुरुवार की सुबह दक्षिण पुलिस चौकी में युवक की पिटाई से आक्रोशित जनता ने पुलिस पर जमकर पथराव किया। साथ ही अस्थाई चौकी में तोड़फोड़ की। इस बवाल में एएसपी संजय कुमार, सीओ केपी सिंह समेत छह सिपाही घायल हो गए। इस घटना के बाद रसड़ा कस्बे में तनाव बना हुआ है।

पन्ना राजभर (35) निवासी धोबई पारिवारिक मामले को लेकर चौकी पर गया हुआ था। आरोप है कि चौकी इंचार्ज धर्मेंद्र कुमार व दीवान राजबलि ने राजभर की लाठी- डंडे से पिटाई कर दी। इसकी खबर पाते ही उसके गांव के महिला व पुरूष लाठी-डंडा लेकर कोटवारी मोड़ पर पहुंच गए। यहां पर पुलिस विरोधी नारे लगाते हुए यातायात ठप कर दिए। आक्रोशित जनता चौकी इंचार्ज व दीवान पर कार्रवाई की मांग करने लगी। इसकी सूचना पर पहुंची पुलिस ने आक्रोशित जनता को समझाने का पूरा किया लेकिन वह नहीं माने।

कुछ देर में एएसपी व सीओ भी मौके पर पहुंच गए। पुलिस ने यातायात बहाल करने के लिए बल प्रयोग कर दिया। इससे आक्रोशित भीड़ ने पुलिस पर जमकर ईंट पत्थर चलाए। इसमें  एएसपी व सीओ संग आधा दर्जन सिपाही घायल हो गए। भीड़ ने कोटवारी स्थित अस्थाई पुलिस चौकी पर भी पथराव किया। इससे कई वाहन क्षतिग्रस्त हो गए। इसकी सूचना पर कई थानों की फोर्स मौके पर पहुंच गई। पुलिस मामले की शांत करने में लगी हुई है। इसके बाद पुलिस की टीम ने भी धरना दे रहे लोगों पर जमकर लाठी भांजी हैं और कई लोगों को काफी चोट भी आई है। मौके पर जिले के लगभग सभी थानों की फोर्स और पीएसी को बुला लिया गया है।

Related Articles