उत्तर प्रदेशब्रेकिंग न्यूज़

मुख्यमंत्री तक पहुंचा फर्जी नियुक्तियों का प्रकरण

संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय में फर्जी नियुक्ति प्रकरण मुख्यमंत्री कार्यालय तक पहुंच गया है। फर्जी नियुक्ति के संबंध में प्रिंट मीडिया में प्रकाशित समाचारों की कटिंग संलग्न कर मुख्यमंत्री पोर्टल पर शिकायत की गई है। मुख्यमंत्री कार्यालय ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक से रिपोर्ट तलब की है। वहीं एसएसपी ने चेतगंज थाने के इंस्पेक्टर से विस्तृत सूचना मांगी है

चेतगंज थाने के इंस्पेक्टर प्रवीण कुमार राय 26 अगस्त को जांच करने विश्वविद्यालय पहुंचे थेचीफ प्रॉक्टर प्रो. आशुतोष मिश्र से वायरल हो रहे चार फोटो से जालसाजों की पहचान की कोशिश की। फर्जी नियुक्ति से संबंधित शिकायत पत्र की प्रतिलिपि भी ली। चीफ प्रॉक्टर से जानकारी लेकर जांच की। दूसरी ओर फर्जी नियुक्ति का प्रकरण मुख्यमंत्री तक पहुंचने के बाद विश्वविद्यालय में खलबली मची हुई है। कुलपति प्रो. राजाराम शुक्ल ने इस संबंध में चीफ प्रॉक्टर से पूछताछ की। चीफ प्रॉक्टर से उन्होंने पूरे प्रकरण के उच्च स्तरीय जांच के लिए एसएसपी को पत्र लिखने का निर्देश दिया है। चीफ प्रॉक्टर पूरे दिन फर्जी नियुक्ति के संबंध में साक्ष्य जुटाने में लगे रहे। चीफ प्रॉक्टर करीब 40 पेज का विवरण तैयार कर चुके हैं। इसमें जालसाज से पाणिनी भवन के कक्ष में बैठकर नियुक्ति पत्र बांटते फोटोग्राफ,तथाकथित चार जालसाज युवकों का नाम, मोबाइल नंबर, चारों के खाते में हरदोई, अमेठी सहित अन्य स्थानों से स्थानांतरित हुए करीब 87 लाख रुपये का विवरण, जालसाजों व ठगी के शिकार युवकों के बीच हुई बातचीत की रिकार्डिंग व चैटिंग, जारी फर्जी नियुक्ति पत्र,  फर्जी आइकार्ड सहित अन्य विवरण शामिल है।

एक कर्मचारी से आज भी पूछताछ

फर्जी नियुक्ति के प्रकरण विश्वविद्यालय का कोई कर्मचारी शामिल है या नहीं। इसकी तहकीकात करने में विवि पिछले तीन दिनों से जुटा हुआ है। 26 जुलाई को चीफ प्रॉक्टर ने तीन कर्मचारियों का बयान भी लिया था। गुरुवार को भी ज्योतिष विभाग के एक कर्मचारी से पूछताछ की। हालांकि विभाग के कर्मचारी ने अनभिज्ञता जताई है। वहीं चीफ प्रॉक्टर ने बताया कि फर्जी नियुक्ति के संबंध में तमाम साक्ष्य जुटा लिए गए हैं। उच्च स्तरीय जांच के लिए एसएसपी को पत्र लिखने का निर्णय लिया गया था। किन्हीं कारणवश गुरुवार को एसएसपी को पत्र नहीं भेजा जा सका है। अब एसएसपी को 28 अगस्त को पत्र भेजा जाएगा।

Related Articles