उत्तर प्रदेशराज्य

भ्रष्टाचार पर C .M योगी का एक और प्रहार

उत्तर प्रदेश में भ्रष्टाचार के खिलाफ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ लगातार कड़े कदम उठा रहे हैं। सीएम योगी की भ्रष्टाचार पर जीरो टॉलरेंस पॉलिसी के तहत अब निर्माण योजनाओं में होने वाली कमीशनखोरी और भ्रष्टचार पर अंकुश लगाने की तैयारी है। राज्य में निर्माण योजनाओं के लिए अब मॉनिटरिंग एंड ऑडिटर अथॉरिटी का गठन किया जाएगा। यह प्रदेश की निर्माण परियोजनाओं और निर्माण की गुणवत्ता की जांच करेगी। इसके साथ ही यह अथॉरिटी विभागों में टेंडर में घोटाले व जमीनी स्तर पर भ्रष्टाचार पर निगरानी करेगी।

उत्तर प्रदेश में निर्माण योजनाओं के लिए मॉनिटरिंग एंड ऑडिटर अथॉरिटी का गठन किया जाएगा।

बता दें की निर्माण परियोजनाओं में लगातार भ्रष्टाचार की शिकायतें मिल रही थी, जिसके बाद मॉनिटरिंग एंड ऑडिटर अथॉरिटी के गठन का निर्णय लिया गया है। कुछ दिन पहले ही इसका प्रेजेंटेशन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के समक्ष किया गया था। मॉनिटरिंग एंड ऑडिटर अथॉरिटी के गठन के लिए सहमती भी बन चुकी है और जल्द ही इस संबंध में प्रस्ताव कैबिनेट में लाया जाएगा।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मॉनिटरिंग एंड ऑडिटर अथॉरिटी के गठन को लेकर पहले ही हरी झंडी दे चुके हैं। इस योजना का पूरी प्लान भी तैयार है। इस टीम में प्रमुख अभियंता स्तर के अधिकारी शामिल किए जाएंगे। यूपी के सभी विभागों की 25 करोड़ तक की परियोजनाओं में वित्तीय समिति को अथॉरिटी सहयोग देगी। इसके साथ ही प्रदेश में चल रहे अलग-अलग विभागों के निर्माण कार्यों की समीक्षा भी अथॉरिटी करेगी। यह अथॉरिटी सीधे सीएम को रिपोर्ट सौंपेगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर नियोजन विभाग व मुख्य सचिव के अप्रूवल के बाद पत्रवली तैयार हो गई है।

Tags

Related Articles