राजनीतिराज्य

कांग्रेस महासचिव प्रियंका वाड्रा की युवाओं के दिल छूने की कोशिश, बेरोजगारी के मुद्दे पर की बात

उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव 2022 की तैयारी कर रही कांग्रेस की नजर हर वर्ग पर है। सभी मोर्चों पर पार्टी आंदोलनरत है। इसी बीच गुरुवार को राष्ट्रीय महासचिव व उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका वाड्रा ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से बात कर युवाओं का दिल छूने की कोशिश की। शिक्षक भर्ती के अभ्यर्थियों और कृषि स्नातकों से संवाद में बेरोजगारी का मुद्दा उठाकर सरकार को घेरने का प्रयास किया।

वर्ष 2016 में हुई 12,460 शिक्षक भर्ती के अभ्यर्थियों को अभी नियुक्ति नहीं मिली है। कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका वाड्रा ने इन युवाओं की व्यथा सुनी और हर संभव मदद का वादा किया। उन्होंने कहा कि यह हमारे लिए राजनीतिक मुद्दा नहीं, बल्कि मानवीय संवेदनाओं का मसला है। यह न्याय का सवाल है। इसी तरह दोपहर में कांग्रेस महासचिव ने प्रदेश के विभिन्न कृषि विश्वविद्यालयों के कृषि स्नातक युवाओं के समूह से बातचीत की।

उत्तर प्रदेश कांग्रेस के मुताबिक, युवाओं का कहना था कि कृषि विभाग के 75 फीसद पद खाली हैं, लेकिन सरकार कोई भर्ती नहीं ला रही है। इस पर प्रियंका वाड्रा ने कहा कि यूपी में युवाओं का भविष्य सरकार ने अंधकारमय कर दिया है। ऐसा लगता है कि सरकार युवाओं के प्रति गैरजिम्मेदार है। न्याय की इस लड़ाई में कांग्रेस युवाओं के साथ खड़ी है।

बेरोजगार दिवस को कांग्रेस का पूरा समर्थन : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जन्मदिन प्रदेश भर में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने राष्ट्रीय बेरोजगार दिवस के रूप में मनाया। आंदोलन का समर्थन करते हुए प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने छात्रों और युवाओं को छला है। दो वर्षों तक किसी भी तरह की सरकारी भर्तियों पर एडवाइजरी जारी नहीं की गई है। युवा और छात्र विरोधी भाजपा सरकार की पांच वर्ष तक नई भर्तियों को स्थायी न किए जाने, 50 वर्ष में सेवानिवृत्त करने जैसी तुगलकी नीतियों ने युवाओं के भविष्य पर ग्रहण लगा दिया है।

Related Articles