राष्ट्रीय

राज्यसभा की कार्यवाही जारी, जीएसटी मुआवजे को लेकर हंगामें के आसार

 कोरोना काल में संसद के मानसून सत्र का आज पांचवा दिन है। संसद में विपक्ष आज जीएसटी मुआवजे का मुद्दा उठाएगा। सीपीआई (एम) ने इसको लेकर राज्यसभा में शून्य काल नोटिस दिया है। इससे पहले गुरुवार को मोदी सरकार लोकसभा से कृषि संबंधित बिलों को पास कराने में सफल रही। हालांकि, इसके विरोध में पार्टी की सांसद हरसिमरत कौर ने केंद्रीय मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया था। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने हरसिमरत कौर बादल का इस्तीफा स्वीकार कर लिया है।

राज्यसभा सांसद अशोक गस्ती को श्रद्धांजलि देने के बाद राज्यसभा को सुबह 9:30 तक के लिए स्थगित कर दिया गया है। 55 वर्ष के अशोक गस्ती कोरोना वायरस से संक्रमित थे और उन्हें 15 दिनों पहले बेंगलुरु के मणीपाल अस्पताल में भर्ती कराया गया था। बीजेपी के नेता इसी साल कर्नाटक से राज्यसभा सदस्य चुने गए थे।

शिवसेना ने दिया शून्यकाल नोटिस

शिवसेना सांसद संजय राउत ने प्याज के निर्यात पर प्रतिबंध को लेकर किसानों के आंदोलन पर राज्यसभा में शून्यकाल नोटिस दिया।

किसानों को गुमराह करने की कोशिश: पीएम मोदी

लोकसभा में कृषि सुधार विधेयकों के पारिक होने को पीएम मोदी ने ऐतिहासिक बताते हुए कहा कि आज देश के किसानों और कृषि क्षेत्र के लिए एक महत्वपूर्ण क्षण है। ये विधेयक सही मायने में किसानों को बिचौलियों और तमाम अवरोधों से मुक्त करेंगे। उन्होंने कहा कि किसानों को भ्रमित करने में बहुत सारी शक्तियां लगी हुई हैं। मैं अपने किसान भाइयों और बहनों को आश्वस्त करता हूं कि MSP और सरकारी खरीद की व्यवस्था बनी रहेगी। ये विधेयक वास्तव में किसानों को कई और विकल्प प्रदान कर उन्हें सही मायने में सशक्त करने वाले हैं।

Related Articles