उत्तर प्रदेशराजनीति

घटते अपराध के साथ औद्योगिकीकरण की ओर बढ़ा उत्तर प्रदेश

ईज ऑफ डूइंग बिजनेस में उत्तर प्रदेश की उपलब्धि के लिए सीधे तौर पर तो औद्योगिक सुधारों को ही श्रेय जाता है, लेकिन कानून-व्यवस्था को भी नजरअंदाज नहीं किया जा सकता। उत्तर प्रदेश पुलिस के आला अधिकारी मानते हैं कि कानून-व्यवस्था निश्चित रूप से ईज ऑफ डूइंग का एक महत्वपूर्ण आयाम है। विभाग ने चार वर्ष में घटे अपराध के आंकड़ों के साथ अपना दावा रखा है।

ईज ऑफ डूइंग बिजनेस में उत्तर प्रदेश की दूसरी रैंक की उपलब्धि को साझा करते हुए पुलिस महकमे ने दावा किया कि प्रदेश में कानून-व्यवस्था के मोर्चे पर बहुत काम हुआ है, जिससे व्यापार करने का वातावरण सुधरा है। पिछले चार वर्ष में अपराध के आंकड़ों में लगातार गिरावट दर्ज की गई है। अधिकारियों का कहना है कि उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा माफिया के विरुद्ध सतत अभियान चलाया जा रहा है। 25 माफिया में से सभी जेल में हैं और इनकी लगभग 154 करोड़ रुपये की संपत्ति गैंगस्टर एक्ट के तहत जब्त की गई है।

अधिकारियों का कहना है कि इसी तरह अपराधियों के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान के तहत मुठभेड़ में 2515 अपराधी घायल हुए, जबकि 125 अपराधियों की मौत हुई है। पेशेवर अपराधियों के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून, गैंगस्टर और गुंडा एक्ट के तहत लगातार कार्रवाई की गई है।

  • आंकड़ों में कानून व्यवस्था की स्थिति
  • अपराध : वर्ष 2020 : वर्ष 2019 : वर्ष 2018 : वर्ष 2017
  • डकैती  : 43           : 73          : 96          : 158
  • लूट      : 848         : 1473      : 2119       : 2656
  • हत्या    : 2188       : 2355       : 2669      : 2740
  • चोरी    : 3724        : 5308       : 5108     : 7332
  • फिरौती के लिए अपहरण  : 16   : 23  : 21   :  28

Related Articles