उत्तर प्रदेशलखनऊ

निजी कंपनियां बनवाएंगी अपार्टमेंट…ऐसे होगी भरपाई

स्वतंत्रदेश,लखनऊ। सरकार अब बिना खर्च किए झोपड़पट्टी में रह रहे लोगों के जीवन में बदलाव लाएगी। जमीन सरकारी होगी, लेकिन गरीबों के लिए आशियाना निजी कंपनी अपने खर्च पर तैयार करेगी। सरकार झोपड़पट्टी वाली जगह पर निजी कंपनी को व्यावसायिक उपयोग की छूट देगी। ऐसा होने पर बिना किसी खर्च के शहर को झोपड़पट्टी से मुक्त किया जा सकेगा। इसकी शुरुआत लखनऊ से होगी।

रिंग रोड से मुंशी पुलिया के बीच की सड़क व्यावसायिक उपयोग के लिए उपयुक्त होगी।

परियोजना का प्रजेंटेशन प्रमुख सचिव नगर विकास के समक्ष हो चुका है। जल्द ही नगर विकास मंत्री आशुतोष टंडन ‘गोपाल’ भी इसकी जानकारी लेंगे। सब कुछ सही रहा तो कैबिनेट से मंजूरी लेकर योजना से गरीबों को बेहतर माहौल में जीने का हक दिया जा सकेगा। यह योजना प्रधानमंत्री आवास योजना का हिस्सा होगी। इन फ्लैटों में रहने वालों को सभी बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी।

प्रदेशभर में लागू होगा मॉडल

नगर विकास मंत्री आशुतोष टंडन ‘गोपाल’ का कहना है कि यह योजना बेहद लाभकारी साबित होगी। अभी तक झोपड़पट्टी को हटाकर वहां अपार्टमेंट बनाने और अन्य सुविधाएं देने पर सरकारी रकम खर्च होती थी, लेकिन अब सरकार का पैसा खर्च नहीं होगा। योजना सफल रही तो इसे पूरे प्रदेश में लागू किया जाएगा।

गरीबों का आशियाना तैयार करने वाली निजी कंपनी को व्यावसायिक उपयोग के लिए जमीन दी जाएगी, जिससे वह अपना खर्च निकाल सके। रिंग रोड से मुंशी पुलिया के बीच की सड़क व्यावसायिक उपयोग के लिए उपयुक्त होगी। करीब दो हजार से 2500 वर्ग मीटर की जमीन निजी कंपनी को दी जानी है।

Tags

Related Articles