उत्तर प्रदेशलखनऊ

लखनऊ-अयोध्या हाईवे में खड़े ट्रक से भिड़ी DCM

लखनऊ-अयोध्या हाईवे पर गुरुवार देर रात खड़े ट्रक में डीसीएम जा घुसी।

स्वतंत्रदेश ,लखनऊ |उत्तर प्रदेश के लखनऊ-अयोध्या हाई वे पर दिलोना मोड़ के पास गुरुवार देर रात एक डीसीएम पहले से खड़े ट्रक में भिड़ गई। इसमें दो लोगों की मौत हो गई, जबकि चार लोगों को गंभीर हालत में जिला अस्पताल भेजा गया है। डीसीएम में लदे बारह मवेशियों की भी मौत हुई है।

मवेशियों से भरी डीसीएम गुरुवार की रात संतकबीरनगर से लखनऊ जा रही थी। यह पशु  संतकबीरनगर के नरायन बाजार स्थित पशु बाजार से खरीदे गए थे। गुरुवार की रात करीब एक बजे हाईवे पर रामसनेहीघाट कोतवाली क्षेत्र के दिलौना मोड़ के पास डीसीएम पहले से खड़े ट्रक में टकरा गई। डीसीएम में चार लोग अगले हिस्से और दो लोग ऊपर बैठे थे। इनके अलावा आठ भैंस, एक गाय और नौ बछड़े भी लदे थे। हादसे के बाद पहुंची पुलिस ने क्रेन से वाहन को सीधा करवाकर मृतक और घायलों को बाहर निकलवाकर बनीकोडर भेजवाया। इसमें उन्नाव जिले के बांगरमऊ निवासी वाहन चालक 42 वर्षीय असलम की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि हरदोई के काशीपुर के गोलू, धनाखेड़ा के अनिल, उन्नाव के मोहम्मदपुर के मोहित, उन्नाव के ही रामचन्द्र और मनोज घायल हो गए।

घायलों को जिला अस्पताल रेफर किया गया। इनमें से अनिल पुत्र सुरेंद्र ने रास्ते में ही दम तोड़ दिया। इसके अलावा छह भैंस और छह बछड़ों की मौत हो गई।

सूचना पर लखनऊ के बालागंज निवासी पशु व्यापारी नूर मोहम्मद भी पहुंच गए। उन्होंने बताया कि इसमें छह लाख की कीमत मवेशी थे। पशुओं को ले जाने के परमिट के संबंध में वह कोई स्पष्ट जवाब नहीं दे सके। बोले-बीस वर्षों से ऐसे ही कारोबार करते हैं। प्रभारी निरीक्षक सच्चिदानंद राय ने पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचकर स्थानीय लोगों की मदद से मृतक और घायलों को बाहर निकलवाया। उन्होंने बताया कि घायलों को जिला अस्पताल भेजवाया गया है। मृतकों का पोस्टमॉर्टम करवाया जाएगा।

रास्ते में दम तोड़ने वाले अनिल के पास एक लाख की नकदी भी थी। इसे एम्बुलेंस चालक अमरेश कुमार व एमडी अखिलेश वर्मा ने वार्ड ब्वॉय को सौंप दिया।

Tags

Related Articles