राजनीतिराज्य

रिहाई के 20 दिन बाद कफील खान से मिलीं प्रियंका, दिल्ली में हुई मुलाकात, परिवार भी साथ था

kafil
दिल्ली में सोमवार को प्रियंका गांधी ने डॉक्टर कफील खान से मुलाकात की।

डॉक्टर कफील खान की मथुरा जेल से रिहाई के 20 दिनों बाद सोमवार को दिल्ली में उनकी कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी से मुलाकात हुई। डॉक्टर खान 31 अगस्त को इलाहाबाद हाईकोर्ट के दखल के बाद रिहा हुए थे। गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में साल 2017 में ऑक्सीजन की कमी से कुछ ही दिनों में 60 बच्चों की मौत के बाद चर्चा में आए

कफील खान का परिवार भी मौजूद रहा

प्रियंका गांधी से मुलाकात के दौरान डॉ. कफील का परिवार भी मौजूद रहा। कफील के साथ उनकी पत्नी और बच्चों से भी प्रियंका गांधी ने मुलाकात की। इस दौरान कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू और कांग्रेस अल्पसंख्यक मोर्चा के अध्यक्ष शाहनवाज आलम भी मौजूद रहे।

कफील की रिहाई के लिए कांग्रेस ने चलाया था अभियान

प्रियंका गांधी ने डॉ. कफील की रिहाई के लिए बाकायदा अभियान चलाया था। इसके साथ ही प्रियंका ने 30 जुलाई को सीएम योगी को डॉ. कफील की रिहाई के संबंध में पत्र भी लिखा था। कफील जब जेल से रिहाई हुई थी तो प्रियंका के ही कहने पर सीनियर लीडर प्रदीप माथुर और अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष शाहनवाज आलम उन्हें रिसीव करने पहुंचे थे। प्रियंका की ही सलाह पर यूपी से निकलकर कफील जयपुर पहुंच गए थे।

गोरखपुर से निकल कर नेशनल फेस बन चुके हैं कफील

योगी सरकार के साढ़े तीन साल के कार्यकाल में डॉ कफील को 3 बार जेल भेजा जा चुका है। इसके अलावा भी गाहे बगाहे किसी न किसी बहाने कफील चर्चा में रहते ही है। जानकारों का कहना है कि डॉ कफील अब नेशनल फेस बन चुके हैं। ऐसे में हर राजनीतिक दल उन्हें अपने साथ लाने की कोशिश करेगा। सीनियर जर्नलिस्ट मदन मोहन बहुगुणा कहते हैं कि इस क्रम में देखे तो कफील को सपा और कांग्रेस का दोनों का ही सपोर्ट था लेकिन इस बार बाजी कांग्रेस मार ले गई। यदि वह कफील को पूर्वांचल में अपना फेस बना कर उतारती है तो 2022 के विधानसभा चुनाव में उसे कुछ न कुछ फायदा जरूर मिलेगा।

Tags

Related Articles