उत्तर प्रदेशराज्य

188 दिन खुला ताज तो चीनी पर्यटक ने किया पहला दीदार, पहली बार डायना बेंच लेमिनेट, स्पेन की अफारा बोलीं- यह खुबसूरत लम्हा

सूरज की पहली किरणों के साथ 188 दिनों बाद सोमवार को उत्तर प्रदेश के आगरा में स्थित दो बड़े स्मारक ताजमहल और आगरा का किला पर्यटकों के लिए खोल दिया गया। इस दौरान लोगों में ताज के दीदार को लेकर दीवानगी देखने को मिली। महज दो घंटे के भीतर 2560 टिकट ऑनलाइन बिक गए। लेह-लद्दाख में बॉर्डर पर जारी तनाव के बीच चीन के पर्यटक लियांग चियाचेंग पहले पर्यटक बने, जिन्होंने पूर्वी गेट से सबसे पहले 5:40 बजे ताज परिसर में प्रवेश किया। इसके बाद दिल्ली के पर्यटक शुभम ने पश्चिमी गेट से एंट्री ली। कोरोना से बचाव के उपायों के साथ लोगों को ताज परिसर में प्रवेश दिया जा रहा है। इस दौरान लोग उत्साहित नजर आए। पर्यटक सेल्फी व फोटो खिंचाते नजर आए। डायना बेंच को लेमिनेट किया गया है।

आगरा मंडल में 266 और आगरा शहर में ताजमहल के अलावा लालकिला, मेहताब बाग, सिकन्दरा स्थित अकबर का मकबरा, मरियम का मकबरा, एत्माद्दौला जैसे आठ स्मारक बन्द कर दिए थे। इनमें से ताजमहल और आगरा का किला छोड़कर अन्य सभी स्मारकों को एक सितंबर से खोल दिया गया था। लेकिन भारतीय पुरातत्व विभाग ने ताजमहल और आगरा का किला को आज से खोला है। ताजमहल के पूर्वी व पश्चिमी दोनों दरवाजों से प्रवेश और निकास की व्यवस्था रखी गयी है। इसमें कोई बदलाव नहीं किया गया है।

खास बात यह रही कि ताजमहल में आने और वापस जाने के दौरान किसी भी सतह को छुआ भी नहीं जा रहा है। पहले थर्मल स्क्रीनिंग की जा रही है। हाथों और पैरों को सैनिटाइज किया जा रहा है। क्यूआर कोड को स्कैन करके टिकट जांच और फिर रजिस्टर में अपनी जानकारी दर्ज करवाकर पर्यटक आराम से अंदर प्रवेश कर रहे हैं। पुरातत्व विभाग के कर्मचारी और सीआईएसएफ के जवान कोरोना से बचाव की गाइड लाइन का पूरा ध्यान रख रहे हैं।

पर्यटक काफी उत्साहित दिखे

  • स्पेन की रहने वाली अफारा आज पहले दिन ताजमहल देखने के लिए पहुंची हैं। वे बताती हैं कि मैं बहुत उत्साहित हूं। मैं पहली बार ताजमहल देखने आई हूं। इसे देखने के बाद मुझे एहसास हुआ कि यह जीवन का सबसे खूबसूरत लम्हा है।
  • स्पेन की रहने वाली सायनो कहती हैं कि बहुत दिनों से ताज के खुलने का इंतजार कर रही थी। यहां आकर मुझे बहुत खुशी हो रही है। कोरोना से बचाव को लेकर किए गए उपाय बेहतर हैं।
  • रीतू मैं दिल्ली से आई हूं। साथ मेरे पति व जेठ भी हैं। बहुत ज्यादा उत्साहित हूं। यहां आकर बहुत अच्छा लग रहा है।

पैरों को किया जा रहा सैनिटाइज

अधीक्षण पुरातत्वविद बसंत कुमार ने बताया कि, कोरोना को लेकर एसओपी का पालन कर रहे हैं। ताजमहल में 5000 पर्यटकों को ही आने की अनुमति है। पैरों को भी सैनिटाइज किया जा रहा है। समूह में फोटोग्राफी नहीं होगी। हैंड सैनिटाइज करना होगा। पूरे कैंपस में मास्क रिमूव नहीं करना होगा। दो माह तक एडवांस टिकट बुकिंग की सुविधा है। रविवार रात तक 162 लोगों ने ऑनलाइन बुकिंग की थी। ज्यादातर लोग यहीं आकर टिकट ले रहे हैं। रेलिंग, स्मारक के किसी सतह को छूने की मनाही है। दोपहर दो बजे से पहले तक 2500 और उसके बाद 2500 पर्यटकों को ही अनुमति दी जाएगी।

डायना बेंच पहली बार लेमिनेट हुई

डायना बेंच को लेमिनेट किया गया है, ताकि समय समय पर सैनिटाइज किया जा सके। अब तक के इतिहास में पहली बार डायना बेंच को लेमिनेट किया गया है। इससे पूर्व ब्रिटेन के युवराज और अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप के आगमन पर डायना बेंच को बर्फ से ठंडा करने की व्यवस्था की गई थी

ताजमहल का माहौल पॉजिटिव, जल्द जिंदगी ढर्रे पर होगी

यहां के अप्रूवड गाइड नितिन सिंह कहते हैं कि आज ताजमहल खुलने के बाद पर्यटन उद्योग से जुड़े लोगों की मायूसी खत्म हुई है और उनमें खुशी की लहर है। ताजमहल का माहौल बहुत पॉजिटिव नजर आ रहा है।अभी शुरुआत में पर्यटकों की संख्या कुछ कम जरूर है। लेकिन आने वाले दिनों में इसमें इजाफा होगा। आज कुछ विदेशी सैलानी आए हैं और जैसे ही सरकार विदेशी उड़ान शुरू करेगी और पर्यटकों को आने देगी तो सबकी जिंदगी ढर्रे पर आने लगेगी।

मंदिरों को भी खोलने की मिले अनुमति

अखिल भारतीय हिन्दू महासभा के मंडल अध्यक्ष अवतार सिंह गिल का कहना है की प्रशासन ने आर्थिक लाभ देखते हुए स्मारक खोल दिए हैं पर मंदिर न खोलने से हिंदू मायूस हैं। हम प्रशासन से वार्ता कर अपील करेंगे कि अब भक्तों को उनके भगवान से मिलने के लिए एक अक्टूबर से ज्यादा इंतजार न कराया जाए और एक अक्टूबर हर हाल में मंदिर खोलने की अनुमति दे दी जाए।

Tags

Related Articles