उत्तर प्रदेशराज्य

यूपी में 15 साल पुरानी गाड़ियों के रजिस्ट्रेशन रद्द करने की तैयारी

15 साल पूरे हो चुके दो व चार पहिया वाहनों के रजिस्ट्रेशन रद्द करने की तैयारी है। पहले इन गाड़ियों को छह माह के लिए अस्थाई पंजीयन रद्द होगा। इस बीच गाड़ी मालिक पुन: रजिस्ट्रेशन कराते है तो पांच साल के लिए गाड़ी का रजिस्ट्रेशन हो जाएगा। वरना छह माह बीतने के बाद स्थाई तौर पर रजिस्ट्रेशन रद्द होगा। इससे गाड़ी कबाड़ घोषित कर दी जाएगी। ऐसे वाहनों का सड़क पर चलना प्रतिबंधित हो जाएगा। 

बार-बार नोटिस देने के बावजूद उम्र पूरी कर चुकी गाड़ियों को पुन: रजिस्ट्रेशन कराने गाड़ी मालिक नहीं आ रहे है। लखनऊ में ऐसे वाहनों की संख्या पांच लाख से ज्यादा है। इनमें 50 फीसदी वाहन बिना रजिस्ट्रेशन चल रहे है। ये वाहन शहर भर में प्रदूषण भी फैला रहे है। ऐसे वाहनों के खिलाफ परिवहन विभाग बड़ी कार्रवाई करने की तैयारी है। पहले चरण में पूर्व में दिए गए नोटिस के आधार पर 1500 वाहनों का रजिस्ट्रेशन अस्थाई तौर पर रद्द किया गया है। 

बिना रजिस्ट्रेशन पकड़े जाने पर 10 हजार जुर्माना
एआरटीओ प्रशासन अंकिता शुक्ला का कहना है कि 15 वर्ष पूरे कर चुके वाहनों के पुन: रजिस्ट्रेशन कराना गाड़ी मालिक के हित में है। बावजूद लापरवाही में पुन: रजिस्ट्रेशन कराने नहीं आ रहे है। वर्ष 2004 के पहले खरीद गए ऐसे वाहनों की सूची तैयार की जा रही है। जिनका रजिस्ट्रेशन रद्द किया जाएगा। 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *