उत्तर प्रदेशराज्य

कांग्रेस विधायक स्‍पीकर कार्यालय के बाहर धरने पर बैठे

नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री का कहना है कि विपक्ष द्वारा उठाए जाने वाले प्रत्येक मुद्दे को कार्यवाही से हटाया जा रहा है, जो संसदीय प्रणाली के तहत ठीक नहीं है। विपक्ष की आवाज को दबाया जा रहा है। इसलिए समूचा विपक्ष सदन में जाने से पहले विधानसभा अध्यक्ष विपिन सिंह परमार के कार्यालय के बाहर धरने पर बैठ गया। मुकेश अग्निहोत्री का कहना है पिछले पांच दिनों से विपक्ष का कोई भी प्रस्ताव नहीं लगाया जा रहा है, जबकि सत्ता पक्ष के सभी प्रस्तावों पर चर्चा हो रही है।

उनका कहना है कि ऐसा पहली बार हो रहा है इस तरह का काम प्रदेश के इतिहास में कभी नहीं हुआ। संसदीय कार्य मंत्री सुरेश भारद्वाज विरोध प्रदर्शन कर रहे विपक्षी कांग्रेस नेताओं के पास पहुंचे। उन्‍होंने कहा बातचीत करने के लिए भीतर आएंं, समस्या का समाधान होगा। सत्तारूढ़ दल के नियम 62 नियम 63 के प्रस्ताव नहीं लगाए जा रहे हैं, विपक्ष न्याय की मांग कर रहा है।

कांग्रेस विधायक आशा कुमारी का कहना है आज प्रजातंत्र दिवस है और प्रदेश में सरकार ने प्रजातंत्र की यह दशा बना कर रख दी है। कांग्रेस विधायक मुकेश अग्निहोत्री, आशा कुमारी, रामलाल ठाकुर, जगत सिंह नेगी, राजेंद्र राणा, आशीष बुटेल, विनय कुमार, मोहनलाल ब्राक्टा, सुंदर सिंह ठाकुर कर्नल धनीराम शांडिल धरने पर बैठे। मामला नहीं सुलझता देखकर विधानसभा अध्यक्ष विपिन सिंह परमार अपने चेंबर से बाहर आए और विपक्षी विधायकों को बातचीत के लिए भीतर लेकर गए।

नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री का कहना है कि हमने विधानसभा अध्यक्ष विपिन सिंह परमार से मुलाकात करके न्याय की मांग की है देखते हैं कि अब न्याय मिलता है या नहीं। संसदीय कार्य मंत्री सुरेश भारद्वाज ने कहा इस मामले पर बातचीत हो गई है और समाधान निकल गया है।

Related Articles