उत्तर प्रदेशराज्य

फूलन देवी की मूर्ति वाराणसी में जब्त

स्वतंत्रदेश,लखनऊ :उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में पूर्व सांसद स्व. फूलन देवी की मूर्ति के जरिए एंट्री करने की तैयारी कर रहे बिहार सरकार के मंत्री मुकेश सहनी को बड़ा झटका लगा है। वाराणसी प्रशासन ने फूलन देवी की प्रतिमा को जब्त कर लिया है। मुकेश सहनी 25 जुलाई को फूलन देवी की पुण्यतिथि पर यूपी में मूर्ति को स्थापित करवाने वाले थे। वह बिहार के पशु एवं मत्स्य संसाधन मंत्री हैं।

                                  वाराणसी में पूर्व सांसद फूलन देवी की जब्त मूर्ति।

बिहार में तैयार की गई सभी 18 मूर्तियों को यूपी के विभिन्न जिलों में पहुंचा दिया गया है। इसी सिलसिले में जब एक मूर्ति वाराणसी पहुंची तो उसे प्रशासन ने जब्त कर लिया। प्रशासन की तरफ से की गई इस कार्रवाई के बाद विकासशील इंसान पार्टी (VIP) ने अन्य जिलों की मूर्तियों को सुरक्षित स्थान पर रख दिया है। बाकी 17 मूर्तियों तक अभी प्रशासन नहीं पहुंचा है। पार्टी के मुताबिक, प्रशासन ने यह कहते हुए मूर्ति को जब्त कर लिया कि इससे सामाजिक सौहार्द बिगड़ेगा।

VIP ने इस कार्रवाई को गलत बताया है। पार्टी का कहना है कि जिन 18 जिलों में फूलन देवी की मूर्ति लगाई जानी है। वहां पार्टी ने इसे अपनी जमीन पर लगाने का फैसला लिया है। ऐसे में प्रशासन की तरफ से की गई ये रोक द्वेषपूर्ण कार्रवाई है। हालांकि इस मामले पर मंत्री मुकेश सहनी ने खुद सामने आकर कोई बात नहीं कही है।

यूपी में निषाद, मल्लाह और कश्यप वोट करीब चार फीसदी है। VIP निषाद समाज से आने वाली फूलन देवी के बहाने निषाद वोटों को अपने पाले में करने की कोशिश कर रही है। इसी रणनीति के तहत सहनी ने अपने मुख्य कार्यक्रम के लिए वाराणसी का चुनाव किया है। साल 2022 के विधानसभा चुनाव के पहले यूपी में अपना कद तलाशने निकले सहनी की नजर खासतौर से पूर्वी और मध्य यूपी के जिलों पर है। यहां के कई जिलों में निषाद वोट बैंक चुनाव में निर्णायक भूमिका निभाता है।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *