दिल्लीराज्य

थर्मल स्कैनिंग के बाद ही मिलेगी एंट्री..

कोरोना संकट के बीच करीब साढ़े पांच माह बाद सोमवार से नोएडा-ग्रेटर नोएडा मेट्रो का संचालन शुरू हो गया है है। सफर में गलती की गुंजाइश न रहे, इसके लिए एनएमआरसी की ओर से पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। सुबह 7 से 11 और शाम को 5 से 9 बजे के बीच 15-15 मिनट के अंतराल में मेट्रो चलाई जाएगी। कोरोना महामारी फैलने से पहले मेट्रो सुबह 6 से रात 10 बजे तक चलती थी। थर्मल स्कैनिंग के बाद यात्रियों को एंट्री दी जा रही है।

मुसाफिरों की गलती जेब पर पड़ेगी भारी

नोएडा-ग्रेटर नोएडा रूट के लिए 19 ट्रेनों की व्यवस्था है। इनमें से 14 का संचालन होता है। बाकी रिजर्व रखी जाती हैं। यहां गलती मुसाफिरों के स्वास्थ्य और उनकी जेब दोनों पर भारी पड़ सकती है। एनएमआरसी ने अलग-अलग स्लैब में जुर्माने की दर तय की है। मेट्रो ट्रेन के अंदर सफर शुरू होने और गंतव्य स्टेशन तक मुसाफिर को मास्क लगाना होगा। सीसीटीवी से इसकी निगरानी होगी। मास्क नहीं पहनने पर 500 रुपए का जुर्माना लगाया जाएगा। इसी तरह स्टेशन परिसर में भी बिना मास्क लगाए पकड़े जाने पर 500 रुपए का जुर्माना भरना होगा। मेट्रो ट्रेन के अंदर और बाहर स्टेशन परिसर में कहीं भी थूकने पर पहली बार में 100 रुपए और दूसरी बार में 500 रुपए का जुर्माना लगाया जाएगा।

मेट्रो प्रबंधन ने कुछ खास तरह के किए इंतजाम

  • कोरोना संदिग्ध मिलने पर उनके संपर्क में आने वाले कर्मचारियों की सुरक्षा के लिए हर स्टेशन पर दो पीपीई किट रखी जाएंगी। इसके अलावा ग्लव्स, मास्क भी पर्याप्त संख्या में स्टेशनों पर कर्मचारियों के लिए उपलब्ध रहेंगे।
  • स्टेशन में प्रवेश करने पर सवारियों को क्या करना है और क्या नहीं करना है, इसकी जानकारी डिस्पले बोर्ड व उद्घोषणा के जरिए दी जाएगी। वीडियो के माध्यम से भी ट्रेन के अंदर व बाहर लोगों को जागरूक किया जाएगा।
  • अधिकारियों को कहना है कि मेट्रो के अंदर 37.7 डिग्री से अधिक तापमान वाली सवारी को मेट्रो में प्रवेश नहीं करने दिया जाएगा। आने वाले दिनों में स्टेशनों से भी ई-रिक्शे चलाने की अनुमति दे दी जाएगी। सामाजिक दूरी को ध्यान में रखते हुए हर रिक्शे में सिर्फ 2 लोगों को ही बैठने की अनुमति दी जाएगी।
  • स्टेशन परिसर में अधिक भीड़ बढ़ने पर सवारियों का प्रवेश बंद कर दिया जाएगा। व्यवस्था संभालने के लिए स्टेशनों की सुरक्षा में लगे पीएसी के साथ-साथ स्थानीय पुलिस भी रहेगी।
  • इस लाइन के सभी 21 स्टेशन पर लिफ्ट बंद रखने का निर्णय लिया गया है। बुजुर्ग, दिव्यांग आदि के लिए विशेष अनुरोध पर ही लिफ्ट की सुविधा दी जा सकती है।
  • लिफ्ट, एएफसी गेट, हैंडल, एस्केलेटर, पीओएस मशीन सहित हर उस चीज को लगातार संक्रमण मुक्त किया जाएगा जहां पर सवारियों के शरीर के छूने की संबंधित चीजें हैं। इसके अलावा पूरे स्टेशन परिसर की रात में सफाई व संक्रमण मुक्त किया जाएगा

ये नियम अपनाने होंगे-

  • प्लेटफॉर्म पर जाते समय एस्केलेटर पर दूसरी सवारी से तय दूरी पर खड़े हों।
  • स्टेशन परिसर पर बने निशान पर ही सवारी को खड़ा होना होगा।
  • कोच के अंदर एक-एक सीट छोड़कर बैठना होगा।
  • मास्क पहने सवारी को ही मिलेगी प्रवेश की अनुमति।
  • हर सवारी की होगी थर्मल स्क्रीनिंग।
  • आरोग्य सेतु एप होना और उसमें ग्रीन स्टेटस के बाद ही स्टेशन में मिलेगा प्रवेश।
  • सवारी से कम से कम 1 मीटर की सामाजिक दूरी रखनी होगी।
  • एएफसी गेट को टच करने से बचें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *