उत्तर प्रदेशराजनीति

कोरोना के खिलाफ मजबूती से लड़ी जा रही लड़ाई

सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने सोमवार को बाबा राघव दास मेडिकल कालेज गोरखपुर में 300 बेड के कोविड अस्‍पताल का शुभरंभ किया। इसके अलावा सीएम ने ब्वायज हॉस्टल, गेस्ट हाउस, बीएसएल लैब तीन का लोकार्पण भी किया।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश में कोरोना के खिलाफ मजबूती के साथ लड़ाई लड़ी जा रही हैजैसे हमने इंसेफ्लाइटिस के खिलाफ लड़ाई लड़ी व 95 फीसद मौतों को नियंत्रित करने में सफलता पाई है, उसी तरह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मिलकर उत्तर प्रदेश कोरोना के खिलाफ खड़ा है। मुख्यमंत्री ने सोमवार को बाबा राघव दास मेडिकल कॉलेज में 300 बेड के कोविड-19 अस्पताल, गेस्ट हाउस, बायो सेफ्टी लैब (बीएसएल) लेवल- 3 व 100 बेड पीजी हॉस्टल का उद्घाटन किया।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश में कोरोना के खिलाफ मजबूती के साथ लड़ाई लड़ी जा रही है। जैसे हमने इंसेफ्लाइटिस के खिलाफ लड़ाई लड़ी व 95 फीसद मौतों को नियंत्रित करने में सफलता पाई है, उसी तरह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मिलकर उत्तर प्रदेश कोरोना के खिलाफ खड़ा है। मुख्यमंत्री ने सोमवार को बाबा राघव दास मेडिकल कॉलेज में 300 बेड के कोविड-19 अस्पताल, गेस्ट हाउस, बायो सेफ्टी लैब (बीएसएल) लेवल- 3 व 100 बेड पीजी हॉस्टल का उद्घाटन किया।

उन्होंने कहा कि पहले यहां गोरखपुर-बस्ती मंडल के मरीजों के लिए केवल 200 बेड का लेवल थ्री अस्पताल था, जिसमें 30 बेड का आइसीयू था। अब आइसीयू 70 बेड और आइसोलेशन वार्ड 130 बेड का दिया गया है। इसके अलावा 300 बेड का एक अलग लेवल थ्री अस्पताल बनाया गया है, जिसमें 100 बेड का आइसीयू और 200 बेड का आइसोलेशन वार्ड है। बीआरडी प्रदेश का पहला मेडिकल कॉलेज है, जहां बायोसेफ्टी लैब लेवल-3 की शुरुआत हुई है। कोरोना संक्रमण शुरू होने के पहले प्रदेश में कोरोना जांच के लिए एक भी लैब नहीं थी। भारत सरकार के सहयोग से केजीएमयू में एक लैब स्थापित की गई, जिसमें सिर्फ 72 जांच हो पाती थी। इसके बाद ट्रूनेट, एंटीजन आदि से जांच की गति बढ़ी।

इसके बाद कोविड अस्पताल में बने हेल्प डेस्क, 200 बेड का आइसोलेशन वार्ड एवंं 65 बेड का वेंटिलेटर आईसीयू का निरीक्षण कियाा। निरीक्षण के बाद मेडिकल कालेज के प्राचार्य, चिकित्सकों, सांसद रविकिशन, मेयर, कमिश्नर, डीएम एवंं अन्य जनप्रतिनिधियों के साथ बैठक की। 

Related Articles