उत्तर प्रदेशराज्य

लखनऊ में छह महीने बाद मेट्रो संचालन फिर पटरी पर

सूबे की राजधानी लखनऊ की लाइफलाइन लखनऊ मेट्रो एक बार फिर पटरी पर आ गई है। विश्व में फैली महामारी कोविड-19 का असर देश के साथ ही प्रदेश व लखनऊ में भी पड़ा। लॉकडाउन के कारण सब बंद थे। इसके बाद धीरे-धीरे सभी चीजें पटरी पर आने के बाद आखिर वह समय आ ही गया जिसका कई महीने से लखनऊ के लोगों को इंतजार था। 

लखनऊ मेट्रो का संचालन 7 सितंबर की सुबह 6:00 बजे से शुरू कर दिया गया। आज ट्रांसपोर्ट नगर स्थित डिपो से निकली दो मेट्रो अप व डाउन लाइन से चलाई गई। मेट्रो में सफर करने वालों का सिलसिला सुबह धीमा रहा। नॉर्थ साउथ कॉरिडोर के सभी 21 मेट्रो स्टेशन पर मेट्रो अफसरों को लगाया गया था यात्रियों को किसी प्रकार की कोई तकलीफ ना हो साथ ही कोविड-19 का पूरी तरह से पालन हो इसकी मॉनिटरिंग की जिम्मेदारी हर अधिकारी को सौंपी गई थी। लखनऊ मेट्रो ने गो स्मार्ट कार्ड को प्रोत्साहित करने के लिए एक योजना भी शुरू की है, इसके अंतर्गत गो स्मार्ट कार्ड खरीदने वाले को 20 रुपया का एक मास्क मुफ्त दिया जा रहा है।

उत्तर प्रदेश मेट्रो रेल कॉरपोरेशन लिमिटेड के प्रबंध निदेशक कुमार केशव ने बताया, परिवहन संसाधनों में सबसे बेहतर विकल्प लखनऊ मेट्रो है। मेट्रो स्टेशनों को हर चार से पांच घंटे में सैनिटाइज किया जा रहा है। लिफ्ट के साथ स्वचालित सीढ़ी, टिकट काउंटर, ऑटोमेटिक फेयर गेट और टिकट वेंडिंग मशीन को तीन से चार घंटा में सैनिटाइज करने के निर्देश हैं।

उत्तर प्रदेश मेट्रो रेल कॉरपोरेशन लिमिटेड के प्रबंध निदेशक कुमार केशव ने बताया, परिवहन संसाधनों में सबसे बेहतर विकल्प लखनऊ मेट्रो है। मेट्रो स्टेशनों को हर चार से पांच घंटे में सैनिटाइज किया जा रहा है। लिफ्ट के साथ स्वचालित सीढ़ी, टिकट काउंटर, ऑटोमेटिक फेयर गेट और टिकट वेंडिंग मशीन को तीन से चार घंटा में सैनिटाइज करने के निर्देश हैं।

हर स्टेशन पर तैनात अफसरों को निर्देश दिए गए हैं कि यात्रियों को प्रोत्साहित करें। यहां युवा सीढिय़ों को इस्तेमाल ज्यादा से ज्यादा करें। लिफ्ट दो या तीन से ज्यादा लोग इस्तेमाल ना करें। सभी मेट्रो स्टेशनों पर नैपकिन की भी व्यवस्था की गई है। स्टेशन में प्रवेश करते समय हैंड वॉश के साथ सैनिटाइजर की भी व्यवस्था की गई है। यात्री इसका प्रयोग अवश्य करें। मेट्रो ने गो स्मार्ट कार्ड को प्रोत्साहित करने के लिए एक्टिवेशन चार्ज भी खत्म कर दिया है। अभी तक स्मार्ट कार्ड को एक्टिवेट करने के लिए लखनऊ मेट्रो 50 रुपया लेता था। अब यह काम सात सितंबर से मुफ्त में होगा।

हर स्टेशन पर तैनात अफसरों को निर्देश दिए गए हैं कि यात्रियों को प्रोत्साहित करें। यहां युवा सीढिय़ों को इस्तेमाल ज्यादा से ज्यादा करें। लिफ्ट दो या तीन से ज्यादा लोग इस्तेमाल ना करें। सभी मेट्रो स्टेशनों पर नैपकिन की भी व्यवस्था की गई है। स्टेशन में प्रवेश करते समय हैंड वॉश के साथ सैनिटाइजर की भी व्यवस्था की गई है। यात्री इसका प्रयोग अवश्य करें। मेट्रो ने गो स्मार्ट कार्ड को प्रोत्साहित करने के लिए एक्टिवेशन चार्ज भी खत्म कर दिया है। अभी तक स्मार्ट कार्ड को एक्टिवेट करने के लिए लखनऊ मेट्रो 50 रुपया लेता था। अब यह काम सात सितंबर से मुफ्त में होगा।

मेट्रो के हर स्टेशन पर दो ही प्रवेश द्वार से प्रवेश

मेट्रो ने अपने यात्रियों की सुविधा के लिए 21 स्टेशनों में 19 स्टेशन ऐसे चिन्हित किए हैं, जहां दो प्रवेश व निकास द्वार से आ जा सकेगा। वहीं सिंगार नगर और चौधरी चरण सिंह एयरपोर्ट पर एक ही प्रवेश व निकास द्वार दिया गया है। मेट्रो अधिकारियों ने बताया कि यात्रियों को किसी प्रकार की कोई परेशानी न हो, उसके लिए मेट्रो के  कर्मचारी व सुरक्षा गार्ड भी यात्रियों की मदद करेंगे। 

कुछ इस तरह स्टेशनों पर प्रवेश व निकास 

स्टेशन                       गेट नंबर 

मुंशी पुलिया स्टेशन           एक व दो 

इंदिरा नगर स्टेशन             एक व दो 

भूतनाथ  स्टेशन               एक व दो 

लेखराज स्टेशन               एक और तीन 

बादशाहनगर स्टेशन          एक और चार 

Related Articles