उत्तर प्रदेश

लखनऊ में डिप्टी सीएम डॉ. दिनेश शर्मा के रिश्तेदार ही सुरक्षित नहीं

राजधानी लखनऊ में कड़ी सुरक्षा की पोल उन लुटेरों ने खोल दी, जिन्होंने डिप्टी सीएम डॉ. दिनेश शर्मा के भांजे का मोबाइल फोन छीना और फरार हो गए। गुरुवार को देर शाम की इस घटना के बाद पुलिस ने चेकिंग अभियान चलाया, लेकिन खाली हाथ रही।

डिप्टी सीएम डॉ. दिनेश शर्मा के भांजे योगेंद्र शर्मा नेवी में अधिकारी हैं। गुरुवार रात बाइक सवार बदमाशों ने उनका ही मोबाइल फोन लूट लिया। योगेंद्र कठौता चौराहे के पास सड़क किनारे खड़े थे, तभी बदमाशों ने फोन छीन लिया। योगेंद्र ने विभूतिखंड थाने में एफआइआर दर्ज कराई है। पुलिस आसपास लगे सीसी कैमरों की मदद से बदमाशों का पता लगा रही है। उनके बारे में कोई सुराग नहीं मिल सका। डिप्टी सीएम के भांजे से लूट की खबर मिलने के बाद राजधानी में देर रात तक चेकिंग अभियान चलता रहा यहां तो हर नाके और हर चौराहे पर चेकिंग चलती रही, लेकिन मोबाइल बरामद नहीं किया जा सका।

योगेंद्र शर्मा नेवी में अधिकारी हैंवह शाम को कठौता झील के पास अपने एक दोस्त से मिलने गए थे। इसके बाद वहां से लौटते वक्त विभव खंड में उनका मोबाइल लुटेरों ने लूट लिया। डिप्टी सीएम के भांजे के मोबाइल फोन छीने जाने की शिकायत मिलने के बाद डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी के निर्देश पर एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार ने भी मोर्चा संभाला। उन्होंने लखनऊ पुलिस कमिश्नर सुजीत पाण्डेय को स्थिति से अवगत कराने के साथ ही मोबाइल छीनने वालों को शीघ्र पकडऩे का निर्देश दिया। इसके बाद तो राजधानी में काफी देर रात तक चेकिंग अभियान चलता रहा। हर नाके और हर चौराहे पर चेकिंग चलती रही, लेकिन मोबाइल बरामद नहीं किया जा सका। माना जा रहा है कि अब इस लूट कांड के बाद लखनऊ कमिश्नरेट के कुछ पुलिस अफसरों पर भी गाज गिर सकती है। 

Related Articles