जीवनशैली

कोरोना को मात दे चुके मरीजों के लिए सरकार ने जारी की नई गाइडलाइन

कोरोनावायरस लोगों के लिए परेशानी का सबब बनता जा रहा है। कोरोना संक्रमण से रिकवर होने के बावजूद भी ये बीमारी लोगों को सुकून की सांस नहीं लेने दे रही। इस बीमारी को मात दे चुके मरीजों को भी घबराहत, बदन दर्द, खांसी, गले में दर्द और सांस लेने में परेशानी की शिकायक लगातार बनी हुई है। कोरोना से रिकवर हुए मरीजों के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय ने ‘पोस्ट कोविड-19 मैनेजमेंट प्रोटोकॉल’ जारी किया है, जिसमें कोरोना से रिकर हुए मरीजों के लिए कुछ हिदायतें दी गई हैं, जिसका पालन करना मरीजों के लिए जरूरी है। इस प्रोटोकॉल में कोरोना से रिकवर हुए मरीजों को इम्युनिटी बढ़ाने के लिए कुछ खास नुस्खों और लाइफस्टाइल का तरीका बदलने की सलाह दी गई है, ताकि लोग इस बीमारी को मात देने के बाद तंदुरुस्त रह सकें।

 आइए जानते हैं कि स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने जो प्रोटोकॉल जारी किया है, उसमें कौन-कौन सी बातें शामिल हैं।

पोस्ट कोविड -19 प्रोटोकॉल का पालन करें

सभी कोविड-19 रोगी जो कोरोना को मात दे चुके हैं, उन्हें अपनी खास देखभाल की जरुरत है। ऐसे रोगियों को तंदुरुस्त रहने के लिए सरकार द्वारा जारी किए गए इन प्रोटोकॉल का मानना जरुरी है।

  • मास्क का इस्तेमाल जारी रखें, लगातार हाथ वॉश करें, हैंड सैनिटाइजर का इस्तेमाल करें, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें।
  • पर्याप्त मात्रा में गर्म पानी का इस्तेमाल करें।
  • आयुष मंत्रालय की सलाह के मुताबिक इम्यूनिटी बढ़ाने वाली दवाईयों का सेवन करें।
  • यदि आपकी हेल्थ में सुधार है तो घर का काम-काज करें, प्रोफेशनल काम-काज की शुरूआत धीरे-धीरे करें।
  • अपनी क्षमता के अनुसार योगासन, प्राणायाम और ध्यान करें।
  • संतुलित और पौष्टिक आहार का इस्तेमाल करें। आप आसानी से पचने वाला नरम ताजा खाना खाएं।
  • नींद पूरी लें और ज्यादा से ज्यादा आराम करें। ताकि शरीर की कमजोरी दूर रहे।
  • कोविड को मात दे चुके रोगी धूम्रपान और शराब से परहेज करें।
  • रोजाना सुबह और शाम जरूर टहले।
  • अस्पताल से छुट्टी मिलने के सात दिन बाद टेलीफोन के जरिए डॉक्टर को अपना हाल जरूर बताएं।
  • घर में ही सेल्फ चेक-अप करें। अपना ब्लड प्रेशर, शुगर और बुखार को चेक करते रहें।
  • गले में कफ या खराश होैने से बचने के लिए लगातार गर्म पानी से गरारे करें।
  • अगर कोई होम आइसोलेशन में रह रहा है और स्थिति पहले से खराब है तो तुरंत निकटतम अस्पताल से संपर्क करें।
  • इस बीमारी से उभरने के बाद अपने दोस्तों, संबंधियों या कॉलोनी के लोगों को जागरुक करें |

कोरोना को मात दे चुके मरीजो को स्वास्थ्य मंत्रालय ने सलाह दी है कि वो इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए च्यवनप्राश खाएं।

1.इम्यूनिटी बढ़ाने वाली आयुष की दवाई

2.आयुष क्‍वाथ (150ml; एक कप) रोज

3.संशमनी वटी (500 mg दिन में दो बार) या गिलोय पाउडर (1-3 ग्राम गर्म पानी के साथ) 15 दिन तक

4.अश्‍वगंधा (500 mg दिन में दो बार) या पाउडर (1 से 3 ग्राम रोज) 15 दिन तक|

5.आंवला (1 रोज) या पाउडर (1 से 3 ग्राम रोज)

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *