उत्तर प्रदेशलखनऊ

कोरोना वायरस के केस मिले तो 60 घर होंगे सील

स्वतंत्रदेश,लखनऊ:कोरोना वायरस के बढ़ते केसाेें को देखते हुए आगरा में अब सख्ती कर दी गई है। अब कोरोना का एक केस मिलने पर 20 घंर और एक से अधिक केस मिलने पर 60 घरों को कंटेनमेंट जोन मानते हुए सील किया जाएगा। डीएम प्रभु एन सिंह ने बताया कि कंटेनमेंट जोन में जिला सर्विलांस अधिकारी और जिला प्रतिरक्षण अधिकारी गतिविधियों को संचालित करेंगे। कोरोना के अंतिम पाजिटिव केस के सैंपल कलेक्शन से 14 दिन तक वह क्षेत्र कंटेनमेंट जोन रहेगा। इस दौरान कोई अन्य पाजिटिव केस नहीं मिलता है तो उस क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन से बाहर किया जाएगा।

   आगरा में कोरोना वायरस के तेजी से बढ़ते केस देखने के बाद शुरू हुई सख्ती। 

कंटेनमेंट जोन कोरोना के नये केस को केंद्र मानते हुए 25 मीटर के क्षेत्र (लगभग 20 घर) और एक से अधिक केस आने पर 50 मीटर क्षेत्र (लगभग 60 घर) कंटेनमेंट जोन बनाया जाएगा एक से अधिक केस होने पर क्लस्टर के मध्य बिंदु को एपीसेंटर चिन्हित कर 50 मीटर रेडियस के क्षेत्र को कंटनेमेंट जोन बनाया जाएगा। दो कंटेनमेंट जोन पर एक टीम लगाई जाएगी। प्रत्येक टीम में स्वास्थ्य विभाग, स्थानीय निकाय, ग्राम पंचायत, स्थानीय प्रशासन सहित तीन सदस्य शामिल होंगे। प्रत्येक पांच टीम पर एक सुपरवाइजर होगा। टीम कंटेनमेंट जोन में कोविड के लक्षणों के लिए लोगों को जागरूक करेगे। संदिग्ध मरीजों का ब्यौरा जुटाएंगे। 24 घंटे में संदिग्ध लोगों के सैंपल लिए जाएंगे। जिन क्षेत्रों में पहले कोरोना केस मिल चुका है दोबारा वहां पर नया केस मिलता है ऐसे क्षेत्र को क्लस्टर मानते हुए 60 आवासों का सर्वे कराया जाएगा.बहुमंजिला भवनों के लिएबहुमंजिला भवन में एक कोविड केस मिलने पर जिस तल पर मरीज का आवास होगा उस तल को कंटनेमेंट जोन माना जाएगा। एक से अधिक केस मिलने पर टावर को कंटेनमेंट जोन के रूप में चिन्हित किया जाएगा। ऐसे केस में जिला प्रशासन और सीएमओ स्तर पर कार्रवाई की जाएगी।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *