कारोबार

अप्रैल से फिर महंगी होंगी कारें

स्वतंत्रदेश,लखनऊ :देश की प्रमुख वाहन निर्माता कंपनी मारुति सुजुकी की कारें अप्रैल 2021 से महंगी होने जा रही हैं। कंपनी ने कीमत बढ़ाने की वजह स्टील की कीमत और दूसरे इनपुट लागत को बताया है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार कंपनी अपनी कारों के कुछ चुनिंदा मॉडल्स पर नई कीमतों को आगामी 1 अप्रैल से लागू कर सकती है। तो अगर आपने मारुति की कार खरीदने का मन बनाया है तो आप इसे मार्च के अंत तक खरीद लें तो अच्छा सौदा होगा अन्यथा आपको बढ़ी हुई कीमत के हिसाब से ही पैसा चुकाना होगा। बता दें दुनियाभर में मारुति सुजुकी का नाम अपनी चीप एंड बेस्ट कारों के लिए आता है। यानी कंपनी कम बजट में लो मेंटनेंस वाली कारें बनाने के लिए जानी जाती है।

अमूमन हर साल की पहली जनवरी से कार कंपनियां अपने वाहनों की कीमतों में इजाफा करती हैं, लेकिन मारुति ने अभी वाहन बनाने के लिए बढ़ती कंपोनेंट्स की कॉस्ट को जिम्मेदार ठहराते हुए ये फैसला लिया है। रिपोर्ट्स की मानें तो कंपनी की तरफ से एक अप्रैल से महंगी होने वाली कारों में Maruti Suzuki Alto से लेकर Brezza तक सभी मॉडल्स शामिल हैं। आपको याद दिला दें कि इस साल यह दूसरी बार है जब कंपनी अपने वाहनों के दामों में बढ़ोत्तरी करने जा रही है। इससे पहले बीती जनवरी में कंपनी ने अपनी गाड़ियों की कीमत बढ़ाई थी

देश की सबसे बड़ी वाहन निर्माता कंपनी मारुति सुजुकी ने इस साल एक बार फिर अपने वाहनों के दामों में इजाफा करने का फैसला किया है।

कितनी होगी कीमत में बढ़ोत्तरी : देश की सबसे बड़ी वाहन निर्माता कंपनी Maruti Suzuki ने बताया कि नई कीमतें कारों के मॉडल्स पर आधारित होंगी। हालांकि इनकी कीमत में कितना इजाफा किया जाएगा इसे लेकर किसी तरह की कोई आधिकारिक पुष्टि अभी तक नहीं हो सकी है। गौरतलब है कि साल की शुरुआत में मारुति सुजुकी ने अपनी कारों की कीमत में लगभग 34,000 रुपये तक का इजाफा किया था। वहीं महिंद्रा एंड महिंद्रा ने वाहनों की कीमत में 1.9% और टाटा मोटर्स ने तकरीबन 26,000 रुपये तक की बढ़ोत्तरी की थी। इन सभी ने कीमत बढ़ाते वक्त कच्चे माल की कीमत में हुई बढ़ोत्तरी और हाई इनपुट कॉस्ट का हवाला दिया था।

स्टील के बढ़ते दाम भी है वजह : मारुति सुजुकी ही नहीं बल्कि अन्य वाहन निर्माता कंपनियां आगामी महीनों में अपने वाहनों की कीमत में इजाफा कर सकती हैं। इसका एक कारण स्टील की कीमतों में पिछले साल के मुकाबले 60 प्रतिशत से ज्यादा का उछाल आना भी है। ऐसे में ऑटोमोबाइल कंपनियों पर लगातार इनपुट कॉस्ट का दबाव बढ़ रहा है और हो सकता है कि मारुति के बाद अब कई और वाहन निर्माता कंपनियां आने वाले दिनों में अपने वाहनों के बढ़े हुए प्राइज़ की घोषणा कर दें। रिपोर्ट्स के अनुसार कई और वाहन निर्माता इस बात का संकेत दे चुके हैं।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *